इनिशियल कॉइन ऑफरिंग (ico) क्या है

इनिशियल कॉइन ऑफरिंग Initial Coin Offering एक ऐसा तरीका है जिससे क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से फंडिंग उठाई जाती है

Ico को कब लांच किया है

ico कब लांच की गई थी और किसके द्वारा इस से लांच किया गया था। ico को 13 जुलाई 2013 को लांच किया गया था और अधिक जानने के learn more पर क्लिक करे ?

Ico किस प्रकार काम करता है

ये एक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है जो डिजिटल करेंसी भी इस कॉइन से ट्रेडिंग करते है जैसे हम क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करते है उसी तरह से काम करता है ?

( ICO ) को कोन लोंच कर सकता

Ico में दिलचस्पी रखने वाले कोई भी व्यक्ति इसको लॉच कर सकता है लेकिन उसको टेक्नोलॉजी से जुड़ी सभी जानकारी अच्छे से होनी चाहिए

ICO की full form क्या है

 ico की फुल फॉर्म है Initial Coin Offering | ico के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए learn more क्लिक करे ?

ico के इतिहास

जुलाई 2013 में मास्टरकोइन द्वारा पहले टोकन की बिक्री आयोजित की गयी, Ethereum ने 2014 में टोकन बिक्री के साथ अपने पहले 12 घंटों में 3,700 BTC जुटाए, जो लगभग 2.3 मिलियन डॉलर के बराबर था।

ico का भविष्य

ICO ने जिस तरह से इतने कम समय में इतनी अधिक लोकप्रियता हासिल की है उसे देख के तो यही लगता है की निवेश करने की और फण्ड जुटाने की ये तरक़ीब बाजार में काफी समय तक रहने वाली है।

हमसे जुड़ने के लिये व क्रिप्टो करेंसी से समन्धित जानकारी प्राप्त करने के लिए learn more पर क्लिक करे ?